गोरखपुर में चाइल्ड हेल्थकेयर

गर्भावस्था के दौरान आवश्यक विटामिन

जब कोई महिला गर्भवती होती है तो उस समय स्वस्थ और विविधतापूर्ण आहार उसके शरीर की ज़रूरत को पूरा करने में अहम भूमिका निभाता है । लेकिन जब महिला गर्भवती होती हैं तो आपको फोलिक एसिड का सप्लीमेंट लेने से फ़ायदा हो सकता है। इन्हें लेने की सलाह दी जाती है । 400 माइक्रोग्राम फोलिक एसिड प्रत्येक दिन - गर्भधारण से पहले और गर्भावस्था के बाद 12 हफ़्तों तक लेना चाहिए। विटामिन-ए की खुराक या विटामिन-ए (रेटिनॉल) युक्त कोई सप्पलिमेंट न लें, क्योंकि इसकी बहुत अधिक मात्रा आपके बच्चे को नुकसान पहुंच सकती है। इललिए हमेशा लेबल की जांच करें । गोरखपुर में बेस्ट चाइल्ड डॉक्टर आपकी सेवा में उपलब्ध है ।

गर्भावस्था से पहले और उसको दौरान लिए जाने वाले विटामिन

  • अगर आप गर्भवती होने की कोशिश कर रही हैं और गर्भ धारण के पहले 12 हफ़्तों तक आपको हर दिन 400 माइक्रोग्राम फोलिक एसिड की गोली लेनी चाहिए। फोलिक एसिड गर्भावस्था के लिए महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह न्युरल ट्यूब दोष, जैसे स्पाइना बाइफिडा जैसे जन्मजात दोषों को रोकने में मदद करता है।
  • आपको ऐसे खाद्य पदार्थ भी लेने चाहिए जिनमें फोलेट (फोलिक एसिड का प्राकृतिक रूप) हो, जैसे हरी पत्तेदार सब्जियां ।
  • गर्भावस्था के लिए निर्धारित फोलेट की मात्रा केवल भोजन से प्राप्त करना मुश्किल है, यही कारण है कि इस दौरान फोलिक एसिड के सप्पलिमेंट्स लेना महत्वपूर्ण है।
  • गोरखपुर में चाइल्ड हेल्थकेयर

    विटामिन डी है बहुत ज़रुरी

    किसी गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं समेत वयस्कों को एक दिन में 10 माइक्रोग्राम विटामिन - डी की आवश्यकता होती है और इस मात्रा के सप्पलिमेंट्स लेने पर विचार करना चाहिए। विटामिन डी शरीर में कैल्शियम और फॉस्फेट की मात्रा को नियंत्रित करता है जो हड्डियों, दांतों और मांसपेशियों को स्वस्थ रखने के लिए आवश्यक हैं। गोरखपूर में बाल चिकित्सक इसके लिए उपलब्ध है । महिला के शरीर की जरूरतों को पूरा करने के लिए उसे पर्याप्त माभा में विटामिन-डी बनाने के लिए धूप में कितने समय रहने की जरूरत है, यह ठीक से ज्ञात नहीं है, लेकिन यदि आप धूप में हैं तो इसके लाल होने या जलन शुरू होने से पहले अपनी त्वचा पर सनस्क्रीन लगाएँ और त्वचा की सुरक्षा का ध्यान रखें।

    कुछ खाद्य पदार्थों में विटामिन डी भी शामिल है :

  • तैलीय मछली (जैसे सैल्मन, मैकेरल, हेरिंग और सार्डिन)
  • अंडे
  • रेड मीट
  • आयरन है आवश्यकता

    अगर महिला के शरीर में आयरन की कमी होती है तो उसे बहुत थकान हो सकती है और आप एनीमिया से पीड़ित भी हो सकते हैं। लीन मांस, हरी पत्तेदार सब्जियां, सूखे फल, और मेवा में आयरन होता है। यदि आप गर्भावस्था के दौरान मूंगफली या मूंगफली युक्‍त पदार्थ (पीनट बटर जैसे खाद्य पदार्थ) खाना पसंद करते हैं, तो आप स्वस्थ संतुलित आहार के हिस्से के रूप में इसे ले सकती हैं जब तक कि आपको उनसे एलर्जी न हो, या आपको इसे लेने की सलाह नहीं दी जाएगी।

    विटामिन – सी न भूलें

    विटामिन-सी कोशिकाओं की सुरक्षा करता है और उन्हें स्वस्थ रखने में मदद करता है। फलों और सब्जियों की विभिन्न किस्मों में विटामिन-सी पाया जाता है और एक संतुलित आहार से आपको आवश्यक विटामिन-सी मिल सकता है। इसके अच्छे स्रोतों में शामिल हैं :

  • संतरे और संतरे का रस
  • लाल और हरी मिर्च
  • स्ट्रॉबेरीज़
  • ब्‍लैक करंट
  • ब्रोकली
  • ब्रसेल्स स्प्राउट
  • आलू
  • यह ध्यान रखें कि आपको और आपके बच्चे को आवश्यक सभी पोषक तत्व मिल रहे हैं, सलाह के लिए आहार विशेषज्ञ के पास जाएँ । अब गोरखपुर में चाइल्ड हेल्थकेयर अब पूरी तरह से उपबल्ध है । मौजूद है जो मातोँ की प्रेगनंसी पर विशेष ध्यान रखता है ।
    Share
    Leave A Reply